सांस्कृतिक मामलों का विभाग, केरल सरकार

सांस्कृतिक संस्थान


मूलूर स्मारकम

मूलूर स्मारकम या मूलूर मेमोरियल हास्य कवि मूलूर एस. पद्मनाभ पणिक्कर (1869-1931) का घर है और यह पत्तनंतिट्टा जिले के इलवुंतिट्टा में स्थित है। राज्य सांस्कृतिक मामलों के विभाग ने यह घर को अधिग्रहीत किया है और इसे कवि के स्मारक के रूप में बदल दिया गया है। अपने हास्य-व्यंग्यात्मक रचनाओं के लिए कवि लोकप्रिय रूप से सरसकवि (हास्य कवि) के नाम से प्रसिद्ध थे।

इस मेमोरियम में शामिल है एक ‘स्मृति कुटीरम’ और मूलूर म्यूजियम जिसमें कवि का स्मृति चिह्न तथा केरल के सुप्रसिद्ध समाज सुधारक श्री नारायण गुरु द्वारा इस्तेमाल किए फर्नीचर और पादुकाएं रखी हुई हैं।

इलवुंतिट्टा पत्तनंतिट्टा शहर से 12 किमी की दूरी पर है। साहित्य प्रेमी और पर्यटक इस स्मारक पर बार-बार आते हैं।

संपर्क जानकारी:
सरसकवि मूलूर स्मारकम
इलवुंतिट्टा (पी.ओ.)
पत्तनंतिट्टा - 689625