सांस्कृतिक मामलों का विभाग, केरल सरकार

सांस्कृतिक संस्थान


स्टेट इंस्टीट्यूट ऑफ एनसाइक्लोपीडिक पब्लिकेशन्स (विश्वकोश प्रकाशनों की केरल राज्य संस्थान)

वर्ष 1961 में, स्वर्गीय पट्टम ताणु पिल्लई के मुख्यमंत्रित्व काल में केरल सरकार ने मलयालम भाषा में एक एनसाइक्लोपीडिया (विश्वकोश) तैयार करने का निर्णय लिया और इसके लिए प्रो. एन. गोपाल पिल्लई को बतौर मुख्य संपादक नियुक्त किया। 1969 में गठित विश्वकोश समिति (एनसाइक्लोपीडिया कमिटी) के निर्णय के आधार पर एक 20 खंडों वाली सिरीज का चयन एनसाइक्लोपीडिया के फॉर्मेट के रूप में किया गया।

प्रथम खंड का प्रकाशन 1972 में हुआ। तब से अब तक 14 और खंडों को पूरा किया गया है और इस तरह कुल 15 खंड प्रकाशित हुए हैं। 16वें खंड पर अभी तैयारी चल रही है। खंड 1 से 10 तक के नए और उन्नत संस्करणों का काम पूरा हो गया है। एनसाइक्लोपीडिया को केरल सरकार के मलयालम बुक डेवलपमेंट एसोसिएशन द्वारा तीन बार सर्वोत्तम संदर्भ ग्रंथ के राज्य पुरस्कार से नवाजा गया।

इसके अलावा, इंस्टीट्यूट ने खास विषयों पर एक खंड वाली एनसाइक्लोपीडिया, जैसे कि परिस्थिति विज्ञानकोषम (परिस्थिति विश्वकोश) और वार्षिका विज्ञानकोषम भी प्रकाशित किए।

स्टेट इंस्टीट्यूट ऑफ एनसाइक्लोपीडिक पब्लिकेशन्स (केरल राज्य विश्वकोश संस्थान) के बारे में अधिक जानकारी के लिए यहां क्लिक करें