सांस्कृतिक मामलों का विभाग, केरल सरकार


तंत्री वाद्ययंत्र

ये वाद्ययंत्र पैदा होने वाले कंपनों के आधार पर तैयार किए जाते हैं। केरल में प्रचलित तंत्री वाद्ययंत्रों में शामिल हैं - वीणा, नारायणवीणा, नन्तुणी, पुल्लोनवीणा, पुल्लुवक्कुडम और तम्बुरु। वायलिन जो यूरोपीय मूल का है, कर्नाटक संगीत समारोहों में प्रयुक्त एक मुख्य संगत वाद्ययंत्र है।